Wednesday, February 28, 2018

आराध्य

मेरे आराध्य तुम
तुम आराधो मुझे
एक ही तत्त्व शक्ति
एक ही तत्त्व शिव
सर्वत्र सर्वत्र सर्वत्र

No comments:

Post a Comment